श्रेणी के अनुसार पोस्ट: स्वतंत्रता और एकाकी जीवन

भारत में किसी भी प्रकार के संबंध के बिना अकेले रहना कैसा होता है?

भारत में किसी भी प्रकार के संबंध के बिना अकेले रहना कैसा होता है?

अरे भाई, भारत में अकेले रहना अपने आप में एक अनोखा अनुभव होता है, विशेष रूप से जब आपके पास किसी से कोई संबंध नहीं होते। हाँ, ग्रीष्मकालीन दोपहर में अकेलापन थोड़ा चढ़ सकता है, जैसे कर्ण सूर्यदेव से अकेला महसूस करता था। लेकिन, जब आप अकेले होते हैं, तो आपके पास होता है 'अपने आप से साक्षात्कार' का सुनहरा अवसर। चाहे वह चाय की चुस्की लेते हुए या अपनी पसंदीदा वेब सीरीज़ देखते हुए हो। और हाँ, भारत में अकेले रहने का अपना ही मजा है, इसमें आपको अपने खाने का भी पूरा नियंत्रण होता है, बेल पूरी से लेकर बिरयानी तक कुछ भी!

अधिक

हाल के पोस्ट

क्यों भारतीय खाद्य को और आकर्षक ढंग से प्रस्तुत नहीं किया जा सकता?

क्या रात भर बाहर छोड़ी गई भारतीय खोराक को खाना सुरक्षित है?

क्या कैलिफोर्निया में आखिरी मिशन कौन सा बनाया गया था?

लोगों को जो खुले आपस में भारत और भारतीयों से नफरत करते हैं, उनसे कैसे डील करना है?

दक्षिण कोरिया में एक भारतीय होने का अनुभव कैसा होता है?